कभी ख़ुशी कभी गम : 12 बातें जो शायद आप नहीं जानते

कभी ख़ुशी कभी गम : 12 बातें जो शायद आप नहीं जानते

Yashi Verma
Source: Tumblr.com

क3जी टीम मिसमालिनी की सबसे पसंदीदा संडे फिल्म है। और अगर आप बॉलीवुड बफ हैं, तो ऐसा हो ही  नहीं सकता कि आपको ‘कभी खुशी कभी गम’ ना पसंद हो । करण जौहर की फिल्में हमेशा ड्रामा, भावनाओं और प्यार का एकदम सही मिश्रण रही हैं और ये फिल्म बिना किसी शक के उनकी एक बहुत बड़ी उपलब्धि है !  इस फिल्म का हर चरित्र देखने लायक था! मेरी राय में ये फिल्म करण जोहर का आज तक का सबसे अच्छा काम था। हालाँकि, इस फिल्म के बारे में कुछ तथ्य हैं जो हम शर्त लगाते हैं की आप नहीं जानते होंगे।

1- फिल्म में अभिषेक बच्चन का केमिओ रोले था , जो उन्होंने करण से कह कर एडिटिंग के समय हटवा दिया । लेकिन उनका ये सीन यूट्यूब पर देखा जा सकता है।

Kabhi Khushi Kabhie Gham

2- बॉलीवुड में पहचान बनाने से पहले, जॉन अब्राहम को “रॉबी” की भूमिका करने का प्रस्ताव दिया गया था, जो उन्होंने स्वीकार नहीं किया|

Source: Giphy.com

3- अमिताभ बच्चन और जया बच्चन इस फिल्म में, 20 वर्षों के बाद एक साथ दिखाई दिए थे। के3जी से पहले, उनकी साथ में आखिरी फिल्म 1981 की सिलसिला थी।

Source: Tumblr.com

4– फिल्म में बिना इजाज़त के “इट्स रेनिंग” गाने का इस्तेमाल करने के लिए यूके की अदालत में करण पर मुकदमा चलाया गया था और उन्हें  भुगतान करने की सजा सुनाई गई थी। लेकिन मुझे लगता है कि ये गाना गेरी हॉलिवेल से ज़्यादा करीना पर अच्छा लगा।

5- “बोले चूड़ियाँ” की शूटिंग के दौरान करण जौहर इतने ज़्यादा तनाव में थे, कि वह डिहाइड्रेशन  के कारण बेहोश हो गए।

Source: Tumblr.com

6- ऋतिक रोशन को कहो ना प्यार है से पहले ही फिल्म में ले लिया गया था। करण ने बस कहो ना प्यार है का रफ कट देखा, और ऋतिक को साइन कर लिया।

Source: Tumblr.com

7- करन जोहर, यश रायचंद की भूमिका के लिए बच्चन साब के अलावा और किसी को नहीं लेना चाहते थे।  उन्होंने तो ये तक कह दिया था के अगर बिग बी ने उनका प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया तो वो ये फिल्म ही नहीं बनाएँगे।

Source: Tumblr.com

8- यश जौहर ने फिल्म की टैगलाइन – “इट्स ऑल अबाउट लविंग यॉर पेरेंट्स”, सुनने के बाद ये कहा था के किसी ने कभी भी उन्हें इससे अच्छा उपहार नहीं दिया।

Kabhie Khushi Kabhie Gham

9- यश जौहर यशवर्धन रायचंद की भूमिका के प्रेरणा थे

Source: Wikipedia.org

10- शुरुआत में वहीदा रहमान को अमिताभ बच्चन की माँ के भूमिका के लिए फिल्म में लिया गया था, लेकिन, अपने पति के निधन के कारण, उन्हें फिल्म छोड़नी पड़ी।

Waheeda Rahman

11- ‘कभी खुशी कभी गम’ उन पहली भारतीय फिल्मों में से एक थीं जिसपर किताब लिखी गयी।

Kabhie Khushi Kabhie Gham

12- और आखिर में, बॉलीवुड के शहज़ादे – आर्यन खान ने के3जी में, शाहरुख़ के बचपने  की भूमिका निभाकर अपनी फ़िल्मी शुरुआत करी।

Source: From Movie Still

क्या आपको भी ये मूवी उतनी ही पसंद है जितनी मुझे?