सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने अपने भाई के साथ बचपन का किस्सा याद करते हुए लिखा एक प्यारा सा नोट

Yashi Verma , 27 Jul 2020
Shweta SIngh Kirti, Sushant SIngh Rajput, (Source: Instagram | @shwetasinghkirti)
Shweta SIngh Kirti, Sushant SIngh Rajput, (Source: Instagram | @shwetasinghkirti)

सुशांत सिंह राजपूत को गए हुए 1 महीने से ज़्यादा हो गया है, और हमें अभी भी यकीन नहीं हो पा रहा है के वो हमारे साथ नहीं है। सोचिये हमारा ये हाल है तो उनके घर वालों पर क्या बीत रही होगी। उनकी बहन और पापा के साथ तो उन्होंने अपनी पूरी ज़िंदगी बिताई है, उन्हें तो हर चीज़ सुशांत की याद दिलाती होगी। हाल ही में सुशांत की दीदी, श्वेता सिंह कीर्ति ने अपने छोटे भाई के साथ बचपन के दिन याद करते हुए एक किस्सा शेयर किया।

उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर सुशांत के बचपन की और अपनी शादी की तस्वीरें शेयर करते हुए बताया के उनके मम्मी पापा हमेशा से लड़का चाहते थे, शायद इसलिए क्योंकि उनका पहला बच्चा लड़का था, जो डेढ़ साल की उम्र में गुज़र गया। और फिर मन्नतों के बाद उनके घर श्वेता आई, जिसे मम्मी पापा लक्ष्मी जी बुलाने लगे। श्वेता के आने के बाद सुशांत इस दुनिया में आए और सबके लाडले बन गए। दोनों भाई बहन हमेशा एक दूसरे के साथ रहते थे, खेलते थे, डांस करते थे मस्ती करते थे। इसी के साथ श्वेता ने अपने और सुशांत के स्कूल के दिनों का एक किस्सा भी सुनाया।

उन्होंने लिखा-

हमने जब स्कूल स्टार्ट किया, तब हमें अलग अलग क्लास में जाना पड़ता था। भाई नर्सरी में था और मेरी प्रेप क्लास उसी बिल्डिंग में थी, तो हमनें पहला साल अच्छे से निकाल लिया। लेकिन फिर मेरी यूकेजी क्लास दूसरी बिल्डिंग में हो गई और भाई की प्रेप क्लासरूम उसी बिल्डिंग में थी, तो हम अलग हो गए। एक दिन जब लंच ब्रेक खत्म हुआ तो मैंने भाई को अपनी क्लास में देखा। हम तब बस 4-5 साल के थे।

इसके दूसरे पार्ट में उन्होंने लिखा –

मैं उसे वहाँ देखकर बिलकुल शॉक्ड और खुश थी, और मैंने उससे पूछा के वो यहाँ तक कैसे आ गया, क्योंकि बिल्डिंग कम से कम आधा किलोमीटर दूर थी। उसने कहा वो अकेला फील कर रहा था और मेरे साथ रहना चाहता था। मैं सोच में पड़ गई के वो कितना अडवेंचरस और हिम्मतवाला था के वॉचमन की नाक के नीचे से अपनी बिल्डिंग से निकल आया और फिर आधा किलोमीटर चलकर मेरी बिल्डिंग तक आया जहाँ वॉचमन था, और वहाँ आकर मेरी क्लास और मुझे भी ढूँढ लिया।

इसके आगे सुशांत की दीदी ने कहा के उन्होंने अपने छोटे भाई की बात को समझा, क्योंकि जब पहली बार उन्हें भी अपने घर वालों को छोड़ कर अकेले स्कूल आना पड़ा था तब उन्हें भी ऐसा ही लगा था।

इसके आगे उन्होंने लिखा –

5 साल ही प्रोटेक्टिव बड़ी बहन होने के नाते मैंने उसे कहा के वो मेरे पास रह सकता है। पहले मैंने उसे मेरी फ्रेंड और मेरे बीच छुपाने की कोशिश की, लेकिन क्लास टीचर ने अटेंडेंस लेते टाइम उसे देख लिया। मैं भी डर गई थी, लेकिन अपने छोटे भाई को प्रोटेक्ट करने के लिए मैं खड़ी हुई और मैंने कहा के उसे अच्छा नहीं लग रहा है तो क्या वो क्लास खतम होने तक हमारे साथ रह सकता है। टीचर ने समझा और वो मेरी बात मान गईं। हम बहुत खुश थे लेकिन 2 पीरियड के बाद उसे अपनी बिल्डिंग में वापस भेज दिया गया, लेकिन तब तक हमने इतनी मस्ती की के उसकी सारी एंग्जायटी दूर हो गई।

इसके बाद श्वेता ने बताया के 2007 में उनकी शादी हो गई, और तब सुशांत ने उन्हें बहुत टाइटली हग किया। शादी के बाद दोनों अपनी अपनी लाइफ में बिज़ी हो गए। वो अमेरिका शिफ्ट हो गईं और सुशांत बॉलीवुड में झंडे गाड़ने लगे। इसी के साथ उन्होंने सुशांत को याद करते हुए लिखा के वो अभी भी ये विश करती हैं के वो जागें और सुशांत उनके पास हों, और ये सब जो हुआ वो बस एक बुरा सपना हो।

काश ये सच में सिर्फ ये बुरा सपना होता और सुशांत अभी भी हमारे साथ होते।

Related Stories

Related Stories

More हिंदी

Trending Today