Exclusive : मेरे लाइफ पार्टनर का सेंस ऑफ ह्यूमर मेरे पापा की तरह होना चाहिए : अनन्या पांडे

Exclusive : मेरे लाइफ पार्टनर का सेंस ऑफ ह्यूमर मेरे पापा की तरह होना चाहिए : अनन्या पांडे

Anupriya Verma

इन दिनों शकुन बत्रा की फिल्म ‘गहराईयां’ गाने ‘हां डूबे-हां डूबे’ मैं लूप में सुन रही हूं और अभी हाल में अनन्या पांडे ने इसी गाने पर कितना प्यारा वीडियो शेयर किया है, जिसमें उन्होंने अपने बचपन से लेकर अभी तक के खास मोमेंट्स को कैप्चर करने की कोशिश की है। यह वीडियो उनके फैंस के लिए वाकई एक विजुअल ट्रीट है। इस वीडियो की मैं यहाँ चर्चा इसलिए कर रही हूँ, क्योंकि इस छोटे से वीडियो को देखने के बाद, मैंने महसूस किया कि अनन्या अपने इस फिल्मी किरदार की तरह ही रिश्तों को अहमियत देने वाली लड़की हैं। वह रिश्तों की गहराइयों में यकीन रखती हैं और फिर जब उनसे मेरी इस फिल्म को लेकर बातचीत हुई तो खुद अनन्या ने भी यह बात स्वीकारी। अनन्या की जिंदगी में उनके पेरेंट्स, उनकी बहन और उनकी खास दोस्तों की अहमियत बहुत अधिक है। अनन्या ने मुझे अपनी बातचीत के दौरान इस फिल्म के बहाने अपनी जिंदगी के कई अहम रिश्तों की गहराइयों में डूबने का मौका दिया। उनके लिए उनकी फैमिली और फ्रेंड्स क्यों सबसे खास हैं, इस फिल्म को उन्होंने हाँ क्यों कहा है, अनन्या ने इन सभी बातों पर विस्तार से बातचीत की है।

आदर्श रिलेशनशिप के मायने और परफेक्ट पार्टनर के बारे में अनन्या कहती हैं

मैंने इस मामले में शाह रुख सर के डायलॉग की कॉपी की है कि प्यार मेरे लिए दोस्ती है। और यह मैंने मेरे पेरेंट्स से सीखा है। इसके बावजूद कि उनकी शादी के 24 साल बीत चुके हैं, दोनों आज भी ऐसे हँसते-खिलखिलाते हैं एक दूसरे के साथ, अपने रिश्ते में नयापन बरक़रार रखे हुए हैं। दोनों में लड़ाइयां भी होती है, जैसे हर कपल में होती है, लेकिन दोनों आपस में बातचीत करते हैं और चीजों को सुलझाते हैं तो मेरे लिए रिलेशनशिप वही मायने रखेगा,जिसके साथ मैं कम्युनिकेट यानी बातचीत कर पाऊं, जिसके साथ मैं मैं रहूँ और सबसे अहम बात मेरे पापा(चंकी पांडे) की तरह उसका सेन्स ऑफ ह्यूमर कमाल का होना चाहिए, जो मुझे मेरी पूरी जिंदगी हंसाते रहे, मेरे पापा से भी अधिक हंसाता रहे।

रियल लाइफ में अनन्या की किसके साथ है सबसे गहरी रिलेशनशिप, इस पर अनन्या कहती हैं

मैं बहुत लकी हूँ कि मेरी जिंदगी में मेरे काफी गहरे रिश्ते हैं, सबसे पहले तो मेरी मॉम, जिनसे मैं बहुत करीब हूँ। फिर मेरी छोटी बहन रायसा है, वह मेरे बेहद करीब है।  इसके अलावा मेरी बॉन्डिंग सुहाना खानशनाया के साथ बहुत अच्छी है। इसके अलावा मेरे स्कूल फ्रेंड्स भी हैं। मैं दरअसल, बहुत गहरी इंसान हूँ, इसलिए मैं रिश्ते को तवज्जो देती हूँ अपनी जिंदगी में।

फिल्म ‘गहराईयां’ को हाँ कहने की वजह पर अनन्या पांडे ने कहा

मेरे लिए ‘गहराईयां’ मेरी अबतक की सबसे इमोशनली चैलेंजिंग फिल्म है। हां, मेरे पास जब पहली बार स्क्रिप्ट आई, तो मैं नर्वस थी, लेकिन मैं इसे लेकर किसी संदेह में बिल्कुल नहीं थी कि मैं करना नहीं चाहती हूँ। लेकिन इसे करना कैसे है, उसे लेकर मैं नर्वस थी और सिर्फ मैं ही नहीं, सिड (सिद्धांत चतुर्वेदी) के मन में भी एक जैसे ही ख्याल थे। लेकिन हमने जब शूटिंग शुरू की, उससे पहले हमने काफी वर्क शॉप किये, शकुन के साथ काफी बातचीत की। शकुन ने इस फिल्म को लेकर मुझसे एक बात कही कि इसमें मुझे बहुत अधिक किरदार में ढलने की जरूरत नहीं हुई, क्योंकि मैं बहुत हद तक टिया जैसी ही हूँ, रियल लाइफ में भी। लेकिन यह मेरे लिए थोड़ी सोचने वाली बात थी, क्योंकि आप पर्दे पर भी अगर अपना ही किरदार निभाते हो, तो पूरी दुनिया आपको जज भी करने लगती है।

दीपिका पादुकोण के साथ पहली बार स्क्रीन शेयर करने की बात पर अनन्या पांडे ने कहा

दीपिका पादुकोण की सबसे खास बात जो मुझे लगती है और उनसे सीखनी चाहिए कि वह आज भी वैसी ही हैं, जैसी अपनी पहली फिल्म के दौरान थीं। उनका पैशन व एनर्जी सब पहले जैसा ही है। वह आज भी सेट पर सबसे पहले पहुँचती हैं। काफी रिहर्सल करती हैं। उन्होंने काफी वर्कशॉप किये। नयी चीजों को सीखना चाहती हैं। हम दोनों के बीच फैमिली जैसी वाइब्स है। हम अपने रिलेशनशिप पर बहुत प्रेशर नहीं देते हैं, उसे नेचुरली फ्लो करने देते हैं।

अनन्या पांडे फिल्म के ट्रेलर में काफी प्रोमिसिंग लग रही हैं और अब तक उनसे बातचीत करने के बाद मेरी उत्सुकता उनके किरदार को देखने के लिए और बढ़ गई है। फिल्म ‘गहराईयां’ 11 फरवरी से अमेजॉन प्राइम वीडियो पर उपलब्ध होगी।