शाह रुख खान, करीना कपूर खान, वरुण धवन जैसे इन 5  स्टार्स ने सिखाई है अपनी फिल्मों के माध्यम से  प्यार की नयी परिभाषा

शाह रुख खान, करीना कपूर खान, वरुण धवन जैसे इन 5 स्टार्स ने सिखाई है अपनी फिल्मों के माध्यम से प्यार की नयी परिभाषा

Anupriya Verma

प्यार के मौसम की बात की जाये तो प्यार का मौसम कभी पुराना नहीं हो सकता है, ऐसे में हिंदी फिल्मों की बात करूं, तो हिंदी सिनेमा ने हमें ऐसे कई नायक और नायिका दी हैं, जो प्यार के नए मायने सिखाते रहे हैं, इन किरदारों ने हमेशा से दिल में जगह बनाई है। फिर चाहे वह जब वी मेट की गीत हो या फिर 'दिलवाले  दुल्हनियां ले जाएंगे' का राहुल ही क्यों न हो। 'ये जवानी दीवानी' की नैना से लेकर 'बद्रीनाथ की  दुल्हनियां' के बद्री तक, जैसे किरदारों ने अपने प्यार के लिए आवाज उठाई है और प्यार का नाम रौशन किया है। कुछ कुछ होता है कि अंजलि भी इस फेहरिस्त में शामिल हैं। ऐसे में आलिया भट्ट, शाहरुख़ खान, वरुण धवन से लेकर दीपिका पादुकोण तक ने एक से बढ़ कर एक ऐसे किरदार निभाए हैं, जिन्होंने प्यार की बातें करते-करते मुझे तो काफी सिखाया भी है। हिंदी सिनेमा के कुछ ऐसे ही प्यारे से किरदारों पर एक नजर

शाह रुख ऐसे ही नहीं बनें रोमांटिक हीरो के रूप में बादशाह

शाह रुख खान ने रोमांटिक हीरो के रूप में एक बड़ी पारी खेली है। उनकी फिल्में 'दिलवाले दुल्हनियां ले जायेंगे', कभी ख़ुशी कभी गम, मोहब्बतें और ऐसी कई फिल्में हैं, जिनका असर मुझ पर तो लम्बे समय तक रहा है। मैंने 'कुछ कुछ होता 'है भी सिर्फ शाह रुख की वजह से देखी और जिसमें उन्होंने कहा कि  प्यार दोस्ती है, यह मैंने इससे ही सीखा। दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे में जब सिमरन कहती है कि राज यह हमारा प्यार नहीं समझेंगे, भाग चलते हैं। राज कहता नहीं, हम बाबूजी की इजाजत के बगैर कहीं नहीं जायेंगे, इस किरदार ने भी सिखाया कि प्यार का मतलब भाग जाना नहीं है, बल्कि अपने प्यार के लिए सबके सामने आना है और हक़ से अपना प्यार हासिल करना है। 'मोहब्बतें ' में जिस तरह से प्यार पर पाबंदी लगने के बावजूद, प्यार हो जाता है, फिर 'कुछ कुछ होता है' में राहुल कहता है प्यार दोस्ती है, वहीं 'दिल तो पागल है' में संयोग वाला प्यार भी हो जाता है, इससे स्पष्ट है कि शाह रुख खान ने अपनी फिल्मों के माध्यम से हर बार प्यार के नए आयाम जोड़े ही हैं।

जब वी मेट की करीना कपूर खान

इम्तियाज अली की फिल्म 'जब वी मेट' की गीत यानी करीना कपूर खान का किरदार बार-बार, शाहिद कपूर के किरदार को समझाती है कि प्यार में कुछ सही गलत नहीं होता है, प्यार तो बस प्यार होता है। यह मेरे जेहन में इस कदर बैठ चुका है कि अब मुझे प्यार करने वालों की गलतियां, गलतियां ही नहीं लगती हैं। गीत ने भी प्यार को खुले आसमान में उड़ने वाले किरदार की तरह बनाया है। यह फिल्म भी लव स्टोरी के रूप में मेरे लिए हमेशा ही खास रहेगी। करीना कपूर खान के बेस्ट परफॉर्मेंस में से एक है यह फिल्म।

दीपिका पादुकोण ने दिखाए हैं कई रूप प्यार के

दीपिका पादुकोण के फ़िल्मी करियर पर गौर करें, तो उन्होंने जिन किरदारों को चुना है, उनके हर किरदार ने प्यार की नयी परिभाषा गढ़ी है। जैसे फिल्म ‘तमाशा’ में उनका प्यार थोड़ा कंफ्यूज नजर आता है, तो ‘लव आज कल’ में उनका प्यार दोस्ती और मस्तमौला नजर आता है। वहीं ये जवानी है दीवानी में उनके किरदार में एक ठहराव वाला प्यार नजर आता है, तो 'कॉकटेल' में वह अपने प्यार को लेकर हद से अधिक पोजेसिव हैं, इससे यह साफ़ जाहिर होता है कि प्यार के जितने भी रूप हैं दीपिका ने उन्हें अपने किरदारों के माध्यम से खूब जिया है।

वरुण धवन की दुल्हनियां सीरीज

हाल के दौर के पॉपुलर किरदारों की बात करें तो वरुण धवन ने ‘हंप्टी शर्मा की दुल्हनियां’ और ‘बद्रीनाथ की दुल्हनियां’ में जबरदस्त तरीके से काम किया है। यह भी हिंदी सिनेमा के मोस्ट रोमांटिक किरदारों में से एक किरदार माना जाएगा, जिसे दर्शकों ने खूब पसंद किया है। इन दोनों ही फिल्मों में आलिया भट्ट और वरुण की जोड़ी को खूब पसंद किया गया है।

इमरान और जेनेलिया की जाने तू या जाने ना

इमरान खान की पहली फिल्म ‘जाने तू या जाने ना’ भी काफी लोकप्रिय फिल्मों में से एक रही है। दर्शकों ने इस युवा जोड़ी को खूब पसंद किया था, इस लव स्टोरी में दोनों की मोहब्बत इस कदर नजर आई थी और जो नैरेटिव था फिल्म का, उससे तो मुझे यह फिल्म बार बार देखने की चाहत होती ही रहती है। आज भी इसके गाने मैं खूब सुनती हूँ।

वेक आप सीड में समझदारी वाला प्रेम रणबीर और कोंकणा का

रणबीर कपूर की बेस्ट फिल्मों में से एक मैं मानती हूँ फिल्म ‘वेक आप सीड’ को। अयान मुखर्जी की बनाई हुई यह काफी शानदार फिल्म रही है। इस फिल्म में कोंकणा ने जैसे रणबीर कपूर जैसे अलहड़ इंसान को जिंदगी में जीना और उसके मायने सिखाये हैं, इससे यह बात भी जाहिर होती है कि आप जब प्यार में होते हैं और आप जिससे प्यार करते हैं, वह आपको प्यार में हमेशा बहुत कुछ सिखाता है, आप एक दूसर के साथ ग्रो करते हो, आप एक इंसान बनते हो।

मैं तो यही कहूँगी कि जब तक हिंदी फिल्में बनती रहेंगी, प्रेम के नए आयाम आते रहेंगे और नयी परिभाषाएं दिखती रहेंगी और दर्शक प्यार के नए रूप अपनी जिंदगी में शामिल करते रहेंगे।