Exclusive ! अक्षय कुमार ! कॉमेडी जॉनर को अब भी नहीं मिला है उसका रियल सम्मान, मैं इसलिए लगातार कॉमेडी फिल्में करता हूँ

Exclusive ! अक्षय कुमार ! कॉमेडी जॉनर को अब भी नहीं मिला है उसका रियल सम्मान, मैं इसलिए लगातार कॉमेडी फिल्में करता हूँ

Anupriya Verma

लम्बे समय के बाद एक बार फिर से अक्षय कुमार अपने फन अंदाज़ में दर्शकों के सामने आये हैं और इस बार मस्ती का स्तर, लगातार बढ़ रहा है। इस बार तो अक्षय कुमार पूरी तरह से आ रहे हैं, अपने फनी अंदाज़ में अपनी फिल्म बच्चन पांडे को लेकर, जिसमें वह कृति सैनन, अरशद वारसी और काफी कलाकारों के साथ नजर आने वाले हैं। ऐसे में मैं अक्षय की एक खास बात की दीवानी इसलिए भी हूँ, क्योंकि अक्षय जब भी आते हैं, वह अपने दर्शकों को जानते हैं कि उन्हें क्या चाहिए और क्या नहीं, वह उनके मिजाज की ही फिल्में लेकर आ रहे हैं। ऐसे में जब वह 'बच्चन पांडे 'लेकर आ रहे हैं, तो उन्होंने मुझसे फिल्म से जुड़ीं कुछ दिलचस्प बातें की हैं। मैं यहाँ वह बातें आपसे शेयर करने जा रही हूँ। अक्षय कुमार ने इस बातचीत में कॉमेडी को मिलने वाले सम्मान को लेकर अहम बात की है।

कॉमेडी फिल्मों को अब तक नहीं मिला है सम्मान

अक्षय कुमार हर साल लगभग चार फिल्में करते ही हैं और इसके पीछे की वह खास वजह यह बताते हैं कि लोगों को हँसते रहना जरूरी है। साथ ही उनका मानना है कि कॉमेडी को अब तक उसक ड्यू नहीं मिला है, जो उसको मिलना चाहिए, जबकि कॉमेडी लिखना सबसे कठिन होता है। अक्षय की आने वाली फिल्म 'बच्चन पांडे' रिलीज होने वाली है और यह एक कॉमेडी फिल्म ही है।

वह इस पर विस्तार से बात करते हुए कहते हैं

सच यही  कि अब भी कॉमेडी को वह सम्मान नहीं मिला है, लोग हमेशा इस पर बातें करते हैं कि रोमांटिक फिल्में बनी हैं, तो उसके हीरो को दे दो अवार्ड्स, उसके हीरो को अवार्ड दे दो, रोमांटिक,  इंटेंस करने वाले एक्टर्स को ही सम्मान मिलता है, अवार्ड्स मिलते हैं, जबकि कॉमेडी करना और लिखना बहुत कठिन होता है। रोमांस तो दिख जाता है, कॉमेडी नहीं दिखती है। लेकिन मेहनत बहुत लगती है।

अक्षय ने आगे कॉमेडी राइटर्स की भी तारीफ़  करते हुए कहा

मुझे  ख़ुशी है कि अब राइटर्स, जो कि किसी भी फिल्म के लिए सबसे बड़े कारक होते हैं, अब अच्छी फीस उनको दी जा रही है, क्योंकि सबसे ज्यादा मेहनत उनकी होती है और कॉमेडी लिखना तो मैं सबसे ज्यादा मानता हूँ कि कठिन है, इसलिए मैं और अधिक कॉमेडी जॉन की फिल्में करता रहूंगा और मुझे लगता है कि पिछले कुछ समय से यह बदलाव तो हुए हैं कि लोग कॉमेडी बनाने लगे हैं। कॉमेडी में दरअसल, एक बड़ी गहराई छुपी हुई है, जिसे देखना और समझना जरूरी है। मेरा मानना है कि हेरा-फेरी जैसी फिल्मों में कॉमेडी के प्रति लोगों का अप्रोच बदला है।

अक्षय ने यह भी साफ किया है कि 'बच्चन पांडे' में ऐसा कुछ भी नहीं है, जिससे लोग डरें, यह बहुत ही हंसाने वाली फिल्म है और दर्शकों को देख कर इसे मजा आएगा, जैसे मुझे इसे करने में मजा आया है। अक्षय कुमार ने 'बच्चन पांडे' के बारे में कहा है कि यह फिल्म दर्शकों को एंटरटेनमेंट देगी।

वाकई में मानना होगा कि अक्षय कुमार को अपने दर्शकों को कैसे अपना दीवाना बना है, अच्छी तरह से आता है। उन्हें अच्छे से मालूम है कि उनके दर्शकों को उनकी इस फिल्म का इंतजार और ऐसे में वह चूँकि होली में आ रहे हैं, तो मुझे पूरी उम्मीद है कि दर्शक उनके काम को देखेंगे भी और पसंद भी करेंगे। साथ ही उन्होंने कॉमेडी को लेकर जो एक अहम बात कही है, मुझे लगता है कि उनके जैसे बड़े सुपरस्टार्स को यह बातें रखनी जरूरी है, ताकि कॉमेडी फिल्मों के निर्देशकों को और राइटर्स को सम्मान मिलता रहे।

मैं बता दूँ कि 'बच्चन पांडे' 18 मार्च, होली के मौके पर रिलीज होने वाली है। इस फिल्म में उनके साथ कृति सैनन और अरशद वारसी भी अहम भूमिका में हैं।