KGFChapter2 फेम यश ! बीमारी से जूझते हुए भी बिना बॉडी डबल के किये हैं संजय दत्त ने सारे शॉट्स पूरे, उनकी फाइटिंग स्पिरिट को सलाम'

KGFChapter2 फेम यश ! बीमारी से जूझते हुए भी बिना बॉडी डबल के किये हैं संजय दत्त ने सारे शॉट्स पूरे, उनकी फाइटिंग स्पिरिट को सलाम'

Anupriya Verma

अल्लू अर्जुन की पुष्पा, राजामौली की फिल्म आरआरआर के बाद, अब एक और साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री की सौगात आ रही है, कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री के सुपरस्टार यश की फिल्म केजीएफ 2 . फिल्म का ट्रेलर जारी हो चुका है और रॉकी भाई यानी यश रॉक करने वाले हैं, यह बात ट्रेलर देख कर, तो मैं सौ प्रतिशत कह सकती हूँ, फिल्म की रिलीज में अब बहुत अधिक समय में भी है, इसलिए दर्शकों के साथ-साथ मेरी बेताबी भी लगातार बढ़ रही है। ट्रेलर में जैसे डायलॉग यश बोलते नजर आ रहे हैं, उनका स्वैग सबको हैरान करने वाला है, एक लार्जर देन लाइफ भूमिका निभाने वाले एक्टर यश की सबसे अधिक बात, जो मुझे आकर्षित करती है कि वह निजी जिंदगी में एकदम आम जिंदगी जीने में यकीन रखते हैं, वह दूसरों का खूब सम्मान करते हैं, उनके फैंस उन्हें अगर घर पर सब्जियां लाकर भी देते हैं, तो वह उसे ख़ुशी-ख़ुशी बनाते हैं। फिल्म के ट्रेलर लांच पर भी यश ने अपने को-स्टार संजय दत्त के बारे में जो कहा, वह दिल को जीत लेने वाली बात थी। यह दर्शाता है कि वह कितने अच्छे इंसान हैं। साथ ही संजय दत्त की फाइटिंग स्पिरिट को भी मैं सलाम कहूँगी कि उन्होंने गंभीर रूप से बीमार होने के बावजूद, अपने सीन्स बिना किसी बॉडी डबल के पूरे किये हैं। इसके अलावा, यश ने फिल्मों की क्लैशिंग को लेकर भी जो अपनी बात रखी है, वह दिल को जीत लेनी वाली है। मैं यहाँ ट्रेलर में कही गई उनकी बातों के अंश शामिल कर रही हूँ।

संजय ने किये हैं सारे स्टंट

यश ने ट्रेलर लांच के दौरान सबसे ज्यादा तारीफ़ संजय दत्त की ही की। यश ने बताया कि संजय ने इस दौरान सारे स्टंट्स खुद से किये, जबकि वह कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे। यश,संजय को सबसे बड़े फाइटर मानते हैं।

Source : Instagram I @duttsanjay @thenameisyash

यश बताते हैं

मैं संजय सर की जितनी तारीफ़ करूँ, वह कम है, वह लीजेंड हैं। उन्होंने अपनी बीमारी के दौरान भी जिस तरह से फिल्म को कमिटमेंट के साथ पूरा किया है, मैं उन्हें सलाम करता हूँ, मुझे उनकी हेल्थ को लेकर बहुत चिंता थी और मैं उन्हें बार-बार अपना ध्यान रखने को कह रहा था, मैंने सबको सेट पर कहा भी था कि सभी उनका ख्याल रखें, फिर एक दिन संजय सर आये और उन्होंने कहा कि यश, मेरी इंसल्ट नहीं करो, मैं जो करना चाहता हूँ और जैसे करना चाहता हूँ वैसे करने दो। मैं इस फिल्म में अपना बेस्ट देना चाहता हूँ।

मेरे लिए यह जानना बेहद दिलचस्प बात रही कि संजय दत्त ने इस फिल्म में अपना बेस्ट दिया है और खास बात यह भी है कि उन्होंने अपने सारे स्टंट्स भी खुद से किये हैं, बिना बॉडी डबल के। खुद संजय ने फिल्म के निर्देशक प्रशांत नील से कह दिया था कि वह क्रोमा पर शूट नहीं करेंगे, बल्कि ओरिजिनल लोकेशन पर ही शूट करेंगे।

संजय दत्त ने भी यह बात शेयर की कि उनकी पत्नी मान्यता ने उन्हें यह हिम्मत दी कि वह इस फिल्म को पूरा कर पाए।

दिलचस्प बात यह है कि संजय के लिए यह पहली पैन इंडियन फिल्म है और संजय दत्त इस फिल्म में विलेन के किरदार में हैं, उनके किरदार का अधीरा है और खास बात यह है कि वह अपने लुक में एकदम अलग और खूंखार लग रहे हैं, ट्रेलर से यह बात स्पष्ट रूप से दिखाई दे रही है कि संजय के किरदार और यश के किरदार के बीच जबरदस्त घमासान होने वाला है।

एक रहने में विश्वास रखते हैं यश

रॉकिंग स्टार यश ने पूरी फिल्म इंडस्ट्री को एक होने की बात को लेकर भी बात रखी है।

उन्होंने ट्रेलर लांच के दौरान ही कहा

नॉर्थ, साउथ, पूर्व या पश्चिम, यह मेरे लिए सिर्फ दिशाएं हैं, यह बहुत ही ऑउटडेटेड कांस्पेट है। हम सभी भारतीय हैं और आपको यही बात समझनी चाहिए कि हम एक ही हैं। अगर आपको कोई नेक्स्ट बिग थिंग कहता है, तो आप बिग थिंग रहेंगे, फिर चाहे आप सुपर स्टार रहें या न रहें। मैं हमेशा से एक ही इंडस्ट्री में विश्वास करता आया हूँ और यह हाई टाइम है कि हम इसको अलग-अलग देखना बंद कर दें।  हमें इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में विश्वास करना चाहिए, न कि एक प्रान्त के सिनेमा के रूप में, हमें सिनेमा को सेलिब्रेट करना चाहिए।

कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री पर गर्व है यश को


यश ने अपनी कन्नड़ फिल्म इंडस्ट्री को लेकर भी जो बातें कही, वह मेरे जेहन में बैठ गई, वाकई में, अपनी जमीन से जिस कदर उन्हें प्यार है,उनसे यह बात सीखनी चाहिए कि कैसे अपनी जड़ों को नहीं भूलना चाहिए।

उन्होंने कहा

मैं अपनी इंडस्ट्री से काफी अटैच हूँ, यह मेरे बारे में नहीं है। मैं वह इंसान हूँ, जिसे सबसे काम क्रेडिट मिलना चाहिए।  यह मेरी इंडस्ट्री और मेरे कन्नड़ लोगों के लिए है। लोग यहाँ पहले जिस तरह से आते थे, और अब जैसे आते हैं,  उनकी स्माइल,एक्सप्रेशन और एक्सपेक्टेशन में अंतर आया है। तो मुझे ख़ुशी होती है कि चलो, हमने कुछ तो किया है। टेक्निशियंस, आर्ट डायरेक्टर, एडिटर और ऐसे कई लोग हैं, जिनकी वजह से फिल्में बनती हैं, हमारे सेट के वर्कर्स और लाइट बॉयज, यहाँ जैसे सेट बॉयज और वर्कर्स हैं, आपको किसी और इंडस्ट्री में नहीं मिलेंगे। मैं यह बात गर्व से कह सकता हूँ, हमने मिल कर, सबको दिखाया है कि हम सभी में क्षमता है।


सिनेमा है कोई चुनाव नहीं

यश ने स्पष्ट रूप से कहा कि इसमें कोई बुराई नहीं है कि एक दिन में दो फिल्में नहीं आ सकती हैं। उनकी फिल्म केजीएफ चैप्टर 2, 14 अप्रैल को रिलीज हो रही है, ऐसे में उसी दिन थलापति विजय की फिल्म बीस्ट भी आ रही है, इस क्लैश के बारे में जब पूछा गया तो यश ने प्यारी बात कही

उन्होंने कहा

यह सिनेमा है, कोई चुनाव नहीं है कि दर्शकों को विनर चुनना है, एक दर्शक दो फिल्म भी देख सकते हैं, मैं तो खुद विजय की फिल्म थियेटर में देखना पसंद करूँगा।

वाकई, यश भले ही फिल्मों में वॉयलेंस लाइक्स मी जैसे फ़िल्मी संवाद बोलते नजर आते हों, लेकिन रियल लाइफ में वह बेहद सादगी भरे संवाद से, मेरे जैसी सिने प्रेमी का दिल तो जरूर जीत लेते हैं। ऐसे में उनकी फिल्म केजीएफ चैप्टर 2, जो 14 अप्रैल को सिनेमा थियेटर में आने वाली है, मैं तो उन्हें देखने के लिए बेसब्री से इंतजार कर रही हूँ।