Exclusive ! Rakul Preet Singh !अमिताभ सर को 21 पन्ने की स्क्रिप्ट फौरन याद हो गयी, उनके दिए ड्राई फ्रूट्स सहेज कर रखने वाली हूँ

Exclusive ! Rakul Preet Singh !अमिताभ सर को 21 पन्ने की स्क्रिप्ट फौरन याद हो गयी, उनके दिए ड्राई फ्रूट्स सहेज कर रखने वाली हूँ

Anupriya Verma

धीरे-धीरे ही सही, अभिनेत्री रकुल प्रीत सिंह ने इंडस्ट्री में पहचान बना ली है, उनकी पिछली फिल्म अटैक में भी उन्होंने अलग हटके किरदार निभाए हैं और आने वाले समय में उनके पास ऐसी कई फिल्में हैं, जिनमें वह उम्दा किरदारों में नजर आने वाली हैं, ऐसे में हाल ही में उनसे मेरी फिल्म रनवे 34 को लेकर बातचीत हुई, इस फिल्म में वह एक को-पायलेट की भूमिका में हैं और अजय देवगन के साथ यह उनकी दूसरी फिल्म है। इस फिल्म में उन्हें अमिताभ बच्चन के साथ भी अभिनय करने का मौका मिल रहा है, जो कि हर युवा कलाकार का सपना भी होता है। ऐसे में रकुल ने इस फिल्म को करते हुए, अमिताभ से और क्या-क्या सीखा, इस पर उन्होंने मुझसे खुल कर बातचीत की है, जिसके अंश मैं यहाँ शेयर कर रही हूँ।

अमिताभ सर के साथ किसका सपना नहीं होता है स्क्रीन शेयर करने का

रकुल प्रीत कहती हैं कि ऐसा कौन कलाकार होगा, जिसे इस बात से ख़ुशी न मिले कि वह अमिताभ बच्चन के साथ स्क्रीन शेयर करने जा रहा है।

वह विस्तार से बताती हैं

एक एक्टर के रूप में आपका सपना होता है कि चाहे जो हो जाये, एक बार अमिताभ सर के साथ मिलने का मौका मिल जाये। मुझे तो इस फिल्म में उनके साथ काम करने का मौका मिल गया, तो मैं खुद को बेहद खुशनसीब मानती हूँ।  अमिताभ सर अब भी अपने काम को कितनी गंभीरता से लेते हैं, यह उनसे सीखने की चीज है, वह अब भी सेट पर वक़्त पर पहुंचते हैं, खूब रिहर्सल करते हैं, पैक आप होने के बाद भी अगले दिन क्या होना है, उसके बारे में निर्देशक से चर्चा करते हैं।  मुझे याद है उन्हें 21 पन्ने की स्क्रिप्ट दी गई थी, वह सात से आठ दिन में पूरी करनी थी। लेकिन उन्होंने उसे जल्द ही पूरी याद कर ली। मुझे नहीं लगता है कि आज के दौर में कोई भी एक्टर ऐसा कर सकता है।

ड्राई फ्रूट्स का स्वीट किस्सा

रकुल ने अमिताभ बच्चन के बारे में एक दिलचस्प किस्सा यह भी बताया कि किस तरह सेट पर अमिताभ, सारे क्रू का ख्याल रखते हैं और उनके साथ क्या एक खास बात हुई

वह बताती हैं

अमिताभ सर ने एक दिन सेट पर सबको बिस्किट बांटें, मुझसे तो कहा कि आप तो खाएंगी नहीं मोहतरमा, मैंने कहा कोई बात नहीं सर, लेकिन सर खुद गए और थोड़ी देर के बाद, तीन ट्रांसपेरेंट डिब्बों में मेरे लिए अलग-अलग तरह के ड्राई फ्रूट्स लेकर लौटे, मैंने मेरी हॉउस हेल्प को जब बताया कि यह अमिताभ सर ने दिया है, उन्होंने उन डिब्बों को अच्छे से सजा कर किचन की शेल्फ पर रख दिया है, तो वाकई में अमिताभ सर जैसे विनम्र कलाकार के साथ काम करना, अपने आप में एक इंस्टीट्यूशन का हिस्सा बनने जैसा है।

रकुल ने यह भी बताया कि उन्हें इस बात की ख़ुशी है कि वह अमिताभ बच्चन के साथ काम करते हुए नर्वस नहीं हुईं। अमिताभ ने रकुल को काफी सहज कर दिया था कि आप कुछ भी सवाल पूछ सकते हैं उनसे, साथ ही मैं भी जब भी ब्रेक होता तरह, उनके काफी अनुभव सुनती थी, उनकी पुरानी फिल्मों की, जो कि काफी मजेदार रहीं।

वाकई में, अमिताभ बच्चन हर जेनरेशन के स्टार्स के लिए इंस्पीरेशन हैं और हर कलाकार उनसे मिल कर, कुछ नया ही सीख कर आता है, ऐसे में रकुल का कॉन्फिडेंस मुझे रनवे 34 में जिस तरह से नजर आ रहा है, मुझे पूरी उम्मीद है कि दर्शक उनके काम को बेहद पसंद करेंगे। फिल्म 29 अप्रैल को रिलीज होने वाली है।