बोले अक्षय कुमार की फिल्म 'पृथ्वीराज' के निर्देशक डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी ! 18 साल के गहन अध्ययन और शोध के बाद लिखी गई है फिल्म,  तथ्यों से नहीं हुई है छेड़छाड़

बोले अक्षय कुमार की फिल्म 'पृथ्वीराज' के निर्देशक डॉ चंद्रप्रकाश द्विवेदी ! 18 साल के गहन अध्ययन और शोध के बाद लिखी गई है फिल्म, तथ्यों से नहीं हुई है छेड़छाड़

Anupriya Verma

अमूमन जब पीरियड फिल्में दर्शकों के सामने आती हैं, तो इस बात पर बहस जरूर शुरू हो जाती है कि फिल्म के मेकर्स ने कहानी को दिखाने में लिबर्टी ली है या इतिहास के साथ, कुछ छेड़छाड़ हुई है। ऐसे में मुझे बेहद ख़ुशी है कि यशराज फिल्म्स ने अपनी बहुतचर्चित फिल्म पृथ्वीराज,  जो कि जल्द ही रिलीज होने वाली है, उस फिल्म के बारे में अपनी राय स्पष्ट रूप से रखी है। डॉ चंद्र प्रकाश द्विवेदी इस फिल्म के निर्देशक हैं और अक्षय कुमार और मानुषी चिल्लर, इसमें मुख्य किरदार में हैं। डॉ चंद्र प्रकाश, इतिहास के विषयों के जानकार रहे हैं और वह इस कहानी के साथ 18 साल से जी रहे हैं, ऐसे में इस कहानी में क्या खास होने वाला है, यहाँ मैं बताने जा रही हूँ।

यहाँ देखें फिल्म का टीजर

क्या कहते हैं निर्देशक

अक्षय कुमार की इस फिल्म पर बॉलीवुड की नजर टिकी हुई है, क्योंकि यह न सिर्फ एक मेगा बजट फिल्म है, बल्कि इस विषय पर अब तक कोई कहानी नहीं दिखाई गई थी। नि : संदेह फिल्म के टीजर लुक्स जो बाहर आये हैं, वह फिल्म को लेकर मेरी उत्सुकता को बढ़ा रहे हैं। ऐसे में इस फिल्म के निर्देशक डॉ चंद्र प्रकाश द्विवेदी अपनी बात रखते हैं।

वह कहते हैं

पृथ्वीराज मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट है। यह एक ऐसी स्क्रिप्ट है, जिसे डेवलप करने में मैंने लम्बे समय से शिद्दत से काम करके तैयार किया है, क्योंकि इस शक्तिशाली और महान राजा पर एक फिल्म बनाने से पहले, इस पर गहन और व्यापक रिसर्च वर्क की जरूरत थी। इसलिए सारी चीजें यथार्थपूर्ण और सही तरीके से हों, पृथ्वीराज के अंतिम शोध में इस बात से पूरी तरह संतुष्ट होने में मुझे लगभग छह महीने लगे, क्योंकि हर एक तथ्य की कई बार जांच की गई है, इस कहानी को लिखते हुए। इसलिए मैं इस कहानी को लेकर काफी आश्वस्त हूँ।

वह आगे कहते हैं

फिल्म में सम्राट पृथ्वीराज चौहान के साथ पूरी तरह से न्याय हो, इसके लिए मैंने पृथ्वीराज चौहान के जीवन पर आधारित कई पुस्तकें पढ़ी हैं और अध्ययन किया है । एक लेखक और फिल्म निर्माता के रूप में आज मैं इस बात से पूरी तरह संतुष्ट हूं कि मैंने अपने सपने को साकार करने से पहले यह समय लिया। हमारे इतिहास में पृथ्वीराज जैसा कोई सम्राट नहीं है और मुझे उम्मीद है कि हमारी फिल्म उनकी वीरता और उदार जीवन शैली के लिए एक उपयुक्त श्रद्धांजलि होगी।

वाकई में, मुझे इस फिल्म के मेकर्स के आत्मविश्वास को देख कर, उम्मीद हो रही है कि इस फिल्म में मुझे और अक्षय कुमार के फैंस को उनका एक अलग रूप तो देखने को मिलेगा ही, साथ ही एक वीरता और सफलता की कहानी भी दर्शकों के सामने प्रस्तुत की जायेगी। फिल्म 3 जून 2022 को रिलीज होने वाली है और मुझे फिल्म की रिलीज का इंतजार होगा।  फिल्म के निर्देशक डॉ चंद्र प्रकाश द्विवेदी ने चाणक्य और उपनिषद जैसे शोज का निर्माण किया है, तो मुझे पूरा विश्वास है कि वह इस विषय के साथ भी न्याय जरूर करेंगे। वह अक्षय कुमार की ही फिल्म रामसेतु में भी क्रिएटिव डायरेक्टर हैं।