'मारी' जैसी सुपरहिट फिल्म के निर्देशक बालाजी मोहन करेंगे हाई कॉन्सेप्ट थ्रिलर फ्रेंचाइजी 'क्लिक शंकर' का निर्देशन

'मारी' जैसी सुपरहिट फिल्म के निर्देशक बालाजी मोहन करेंगे हाई कॉन्सेप्ट थ्रिलर फ्रेंचाइजी 'क्लिक शंकर' का निर्देशन

Anupriya Verma

इन दिनों लगातार अच्छे कॉन्सेप्ट लेकर मेकर्स आ रहे हैं, अलग-अलग तरह की फिल्मों और विषयों पर काम हो रहा है।  ऐसे में जंगली पिक्चर्स ने एक नयी घोषणा की है कि वह अपनी नयी फ्रेंचाइजी लेकर आ रहे हैं। वह हाई कॉन्सेप्ट थ्रिलर क्लिक शंकर के रूप में लेकर आ रहे हैं और इसका निर्देशन करने वाले हैं बालाजी मोहन

जी हाँ, बेहद उम्दा और लीक से हट कर फिल्में बनाने वाली प्रोडक्शन कंपनी  जंगली पिक्चर्स  ने अपनी अगली हाई-कॉन्सेप्ट थ्रिलर 'क्लिक शंकर' का ऐलान किया है। इससे मेरी उत्सुकता फिल्म को लेकर बढ़ी है।  इस फिल्म का मुख्य किरदार शंकर रेबेरो होगा। वह एक पुलिस वाला है, जो कि काफी दिलचस्प किरदार है, जिसकी मेमोरी फोटोग्राफिक है, यानी एक बार देखने के बाद, उसे कोई सीन तो हमेशा के लिए याद रहता ही है, साथ ही टच, वॉइस, टेस्ट और स्मेल को भी वह कभी नहीं भूल सकता है, बल्कि फोटोग्राफिक मेमोरी रिकॉल से भी तेज एक क्लिक पर उसकी आंखों में सब बस जाता है, जो उसने कभी देखा, सुना या महसूस किया होता है।

दिलचस्प बात जो मुझे इस किरदार की लग रही है, वह यह है कि यह रहस्यों को सुलझाता हुआ, अपने ही तरीके का एक अनोखा किरदार होगा, जो मजाकिया होने के साथ- साथ, एक हैरान-परेशान इंस्पेक्टर भी होता है,  जिसे सब कुछ याद रहता है और यह उसके लिए एक तरह का वरदान और अभिशाप दोनों है। इस किरदार के बारे में आगे बताऊँ तो, शंकर रेबेरो को हाइपरथिमेसिया नाम की एक दुर्लभ बीमारी होती है, जो उसे अपनी जिंदगी की हर घटना (गजनी के लोकप्रिय चरित्र के उलट) को याद रखने में सक्षम बनाती है और यह सुनिश्चित करती है कि वह अतीत को कभी नहीं भूल पाए। भावनाओं के रोलर कोस्टर और रहस्यपूर्ण ट्विस्ट और टर्न्स के साथ शंकर का सफर एक्शन ह्यूमर और हार्ट का एक परफेक्ट ब्लेंड होगा। ऐसे में इस किरदार के साथ एक फीमेल लीड किरदार भी कहानी से जुड़ने वाली हैं, जो शंकर की जिंदगी में कई बदलाव लाने वाली है। वे बदलाव क्या होगा, यह तो फिल्म की रिलीज पर ही ट्विस्ट और टर्न्स के साथ पता चलेगा।

बता दूँ कि  राज़ी और तलवार जैसी थ्रिलर फिल्मों की बॉक्स ऑफिस पर भारी सफलता के बाद, जंगली पिक्चर्स ने एक बार फिर क्लिक शंकर के लिए एक रोमांचक टीम तैयार की है। फिल्म का निर्देशन अक्लेम्ड डायरेक्टर बालाजी मोहन करेंगे, जो मारी 1 और 2 (राउडी बेबी सॉन्ग फेम) और कधलील सोधाप्पुवधु येप्पादी जैसी फिल्मों में अपनी अनूठी कॉमिक सेंसिटिविटी को दर्शा चुके हैं।

वहीं, कहानी और स्क्रीनप्ले बिंकी मेंडेज़ के साथ बालाजी मोहन द्वारा लिखा गया हैं और इसके डायलॉग्स सुमित अरोड़ा (स्त्री, द फैमिली मैन - सीजन 1) और सूरज ज्ञानानी ने लिखे हैं।

इस फिल्म को लेकर बात करते हुए निर्देशक बालाजी मोहन साझा करते हैं -

"इस फिल्म को अच्छी ट्रीटमेंट के लिए, एक यूनिक विजन की आवश्यकता थी, जिसमें नायक अपनी तरह का एक ओरिजिनल किरदार है। दर्शकों को अनुमान लगाने के लिए गहरे, डार्क और एजी सीन्स को ह्यूमर के साथ पेश किया जाएगा, जिससे कि कहानी के अंत तक उनकी दिलचस्पी को बरक़रार रखेगा। ऐसे में मैंने महसूस किया कि यह तालमेल जंगली पिक्चर्स टीम के अलावा किसी और के साथ बेहतर मेल नहीं खा सकता और इसलिए उनके साथ इस प्रोजेक्ट को करना, मेरे लिए खास हो गया । मैंने पाया कि  हिंदी सिनेमा में यह मेरी शुरुआत करने के लिए एकदम सही फिल्म होगी और हम वह सब पेश करने के लिए इंतजार नहीं कर सकते जो बन रहा है।"

जंगली पिक्चर्स की सीईओ, अमृता पांडे कहती हैं -

"क्लिक शंकर की अवधारणा एक कैरेक्टर ड्रिवेन फ्रेंचाइजी के रूप में जंगली पिक्चर्स की क्रिएटिव टीम की तरफ से आई है। बालाजी की कहानी को लेकर जो सेंसिटिविटी है और कहानी में जो मास अपील है।  कहानी और स्क्रीनप्ले पर बिंकी का शानदार लेखन इस फिल्म की खासियत  को और बढ़ा देगा। सुमित और सूरज ने इसे अपने शार्प और एंटरटेनिंग डायलॉग्स से अलग ही लेवल पर पहुंचा दिया है।  इससे भी ज्यादा खास बात यह है कि इस थ्रिलर शैली में प्यार भी भरपूर है जो इसे कुछ अनोखा बनाने का एक रोमांचक अवसर देता है।"  

ऐसे में बधाई दो, बधाई हो, राज़ी और तलवार जैसी शैली को परिभाषित करने वाली फिल्मों के साथ, जंगली पिक्चर्स 2022 के लिए तैयार है, जिसमें आने वाली फिल्मों की एक रोमांचक स्लेट है, जिसकी शुरुआत 'डॉक्टर जी', 'वो लड़की है कहां?', 'डोसा किंग' 'उलझ' और 'क्लिक शंकर' जैसी कुछ फिल्मों से होगी।

वाकई में, मुझे इस फिल्म के लबो-लुआब जानने के बाद, यह महसूस हो रहा है कि इस कहानी में काफी कुछ रोमांचक होने वाला है, सो यह देखना दिलचस्प होगा कि यह कहानी किस रूप में हमारे सामने आती है।